कान्‍स फिल्‍म फेस्टिवल: कंट्री ऑफ आनर के रूप में चुना गया भारत।

फ्रांस में कान्‍स फिल्‍म फेस्टिवल के 75वें संस्‍करण के साथ आयोजित किए जाने वाले आगामी ‘मार्चे डू फिल्‍म’ में भारत आधिकारिक रूप से सम्‍मानित देश (कंट्री ऑफ आनर) होगा। यह पहली बार है जब मार्चे डू फिल्‍म में आधिकारिक रूप से किसी देश को कंट्री ऑफ आनर का आमंत्रण भेजा गया है। 

Kan film festival

संयोग है कि जहां आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर भारत में ‘आजादी का अमृत महोत्‍सव’ मनाया जा रहा है। वहीं, कान्‍स फिल्‍म फेस्टिवल अपनी 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। इसके अलावा भारत एवं फ्रांस के राजनयिक संबंध स्‍थापित होने के भी 75 वर्ष पूरे हुए है। इसी महत्‍वपूर्ण राजनयिक पृष्‍ठभूमि में भारत को सम्‍मानित देश के रूप चुना गया है।

दुनियां में सर्वाधिक फिल्‍में बनाने वाला देश भारत।

मार्चे डू फिल्‍म ने लिखा है कि हर साल 3000 से अधिक फिल्‍में बनाने के साथ भारत दुनियां का सबसे बड़ा फिल्‍म निर्माता है। बालीवुड के अलावा भारत में 30 से अधिक क्षेत्रीय फिल्‍म उद्योग है, देश का फिल्‍म क्षेत्र 2024 तक यूरो 2.6 बिलियन का राजस्‍व अर्जित कर सकता है।

फेस्टिवल में दिखेगी सत्‍यजीत रे की फिल्‍म।

भारतीय निर्देशक सत्‍यजीत रे की क्‍लासिक फिल्‍म ‘प्रतिद्वंदी’ को इस बार विशेष रुप से प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा रिलिज नहीं की गई 5 भारतीय फिल्‍मोंं को भी ओलंपिया स्‍क्रीन नाम के सिनेमा हॉल में प्रदर्शित किया जाएगा।

रॉकेट्री: द नंबी इफेक्‍ट।

कान्‍स फिल्‍म महोत्‍सव के इस संस्‍करण में भारत की भागीदारी का एक अन्‍य आकर्षण आर. माधवन द्वारा बनाई गई फिल्‍म ‘रॉकेट्री: द नंबी इफेक्‍ट’ का वर्ल्‍ड प्रिमियर है। इस फिल्‍म को 19 मई 2022 को दिखाया जाएगा।

गोज टू कान्‍स सेक्‍शन।

इस सेक्‍शन में 5 चयनित भारतीय फिल्‍मों को दिखाया जाएगा। ये फिल्‍में फिल्‍म बाजार के तहत वर्क इन प्रोग्रेस लैब का हिस्‍सा है।

  • बागजान (असमिया, मोरानी)
  • बैलाडीला (हिन्‍दी, छतीसगढी)
  • एक जगह अपनी (हिन्‍दी)
  • फॉलोवर (मराठी, कन्‍नड, हिन्‍दी)
  • शिवम्‍मा (कन्‍नड)

तारीख: 06/05/2022

लेखक: राकेश कुमार।

  

Leave a Reply

Your email address will not be published.