डेबिट कार्ड और क्रेडिट को लेकर आरबीआई की नई गाइडलाइन।

आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड व डेबिट कार्ड से जुड़े नए नियमों की घोषणा की है। नए नियम 1 जुलाई 2022 से लागू होंगे। आरबीआई की यह गाइडलाइन सभी अनुसूचित बैंक और भारत में संचा‍लित सभी गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनीयों (एनबीएफसी) पर लागू होगी। भुगतान बैंंकों, राज्‍य सहकारी बैंकों और जिला केन्द्रिय सहकारी बैंकों को इससे अलग रखा गया है।

rbi new guideline

डेबिट कार्ड।

डेबिट कार्ड केवल उन ग्राहकों को जारी किए जाएंगे जिनके पास बचत या चालू खाता है। बैंक किसी ग्राहक को डेबिट कार्ड सुविधा का लाभ उठाने के लिए बाध्‍य नहीं करेगी और न ही किसी अन्‍य सुविधा का लाभ उठाने के लिए डेबिट कार्ड को लिंक करेंगे।

अगर किसी व्‍यक्ति के नाम पर जारी कार्ड उस तक नहीं पहुंच पाया और उसका दुरूपयोग किया गया है तो ऐसे में किसी भी हानि की जिम्‍मेदाी केवल कार्ड जारीकर्ता की होगी और जिस व्‍यक्ति के नाम से कार्ड जारी किया गया है, वह इसके लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

क्रेडिट कार्ड।

यदि कार्ड जारी करने की तारीख से 30 दिनों से अधिक समय तक ऐक्टिवेट नहीं किया जाता है, तो कार्ड जारीकर्ता क्रेडिट कार्ड को चालू करने के लिए ग्राहक से वन टाइम पासवर्ड आधारित सहमति लेंगें।

अगर कोई सहमति प्राप्‍त नहीं होती है, तो ऐसे मामले में कार्ड जारीकर्ता, ग्राहक से पुष्टि प्राप्‍त करने की तारीख से 7 दिनों के भीतर बिना किसी शुल्‍क के क्रेडिट कार्ड अकाउंट बंद कर देगा।

अगर किसी व्‍यक्ति के नाम पर जारी कार्ड उस तक नहीं पहुंच पाया और उसका दुरूपयोग किया गया है तो ऐसे में किसी भी हानि की जिम्‍मेदारी केवल कार्ड जारीकर्ता की होगी और जिस व्‍यक्ति के नाम से कार्ड जारी किया गया है, इसके लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

बिलिंग।

कार्ड जारीकर्ता यह सुनिश्चित करेंगे कि बिल भेजने में कोई देरी न हो और ग्राहक के पास ब्‍याज लगाए जाने से पहले भुगतान करने के लिए पर्याप्‍त समय (कम से कम 14 दिन) हो।

कार्ड जारीकर्ता यह सुनिश्चित करेंगे कि गलत बिल ना तो बने और ना कार्डधारकों को जारी किए जांए। यदि कार्डधारक किसी बिल को गलत बताता है, तो कार्ड जारीकर्ता स्‍पष्‍टीकरण प्रदान करेगा। अगर लागू हो, तो शिकायत की तारीख से अधिकतम 30 दिनों की अवधि के भीतर इसके लिए कार्डधारक को दस्‍तावेज साक्ष्‍य भी प्रदान करेगा।

क्रेडिट कार्ड बंंद करना। 

कार्ड जारीकर्ता अगर क्रेडिट कार्ड को 7 वर्किग डेज के भीतर बंद करने की प्रक्रिया को पूरा करने में विफल रहते है तो उन्‍हें ग्राहक को प्रतिदिन रूपया 500 का जुर्माना देना होगा, जब तक कि खाता बंद नहीं किया जाता है, बशर्ते खाते में कोई बकाया न हो।

यदि क्रेडिट कार्ड का उपयोग 1 वर्ष से अधिक समय से नहीं किया गया है, तो कार्ड धारक को सूचित करने के बाद कार्ड को बंद करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

यदि 30 दिनों की अवधि के भीतर कार्डधारक से कोई उत्तर प्राप्‍त नहीं होता, तो कार्ड जारीकर्ता द्वारा कार्ड खाता बंद कर दिया जाएगा।

कार्ड जारीकर्ता के प्रतिनिधि, ग्राहको से केवल सुबह 10:00 बजे से शाम 7:00 बजे के बीच ही संपर्क करेंगे।

नियम एवं शर्तें।

कार्ड जारी करने और उपयोग करने के लिए नियम और शर्तों का उल्‍लेख कार्डधारक के लिए स्‍पष्‍ट और सरल भाषा (प्रेफेबली अंग्रेजी, हिंदी और स्‍थानीय भाषा में) में किया जाना चाहिए।

कार्ड जारीकर्ता कोई ऐसा चार्ज नहीं लगाएगें जो कार्डधारक को कार्ड जारी करते समय और उसकी स्‍पष्‍ट स‍हमति प्राप्‍त किए बिना स्‍पष्‍ट रूप से बताया नहीं गया था। हालांकि, यह सेवा कर जैैसे शुल्‍कों पर लागू नहीं होगा जो बाद में सरकार या किसी अन्‍य वैधानिक प्राधिकरण द्वारा लगाए जा सकते है।

कार्ड से जुड़े सभी शुल्‍कों का विवरण कार्ड जारीकर्ता की वेबसाइट पर प्रदर्शित किया जाएगा।

तारीख: 30/04/2022

लेखक: शत्रुंजय कुमार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.