देश के कई हिस्‍से लू की चपेट में।

देश के अलग अलग हिस्‍सों में मार्च से शुरू हुआ गर्मी का प्रकोप मई में भी जारी है। रविवार यानी 15 मई को दिल्‍ली में पहली बार अधिकतम तापमान 49.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, उतर प्रदेश के कुछ इलाकों में पारा लगभग 50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। मौसम विभाग के अनुसार भारत में इस साल मार्च 122 वर्षों में सर्वाधिक गर्म और अप्रैल, चौथी बार सबसे अधिक गर्म रहा।

Loo in india 

कब होती है लू की घोषणा।

जब अधिकतम तापमान सामान्‍य से 6 डिग्री सेल्सियस अधिक हो जाता है, तो तब भीषण लू की घोषणा की जाती है। जम्‍मू-कश्‍मीर, पंजाब, राजस्‍थान, हरियाणा, दिल्‍ली, चंउीगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, गुजरात, महाराष्‍ट्र और तेलंगाना ऐसे राज्‍य हैं, जहां लू चलती हुई देखी जा रही है।

कश्‍मीर में भी 30 डिग्री तापमान।

हाल ही में कश्‍मीर में कई स्‍थानों पर दिन का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया गया, जो आमतौर पर राज्‍य की ग्रीष्‍मकालीन राजधानी कश्‍मीर के लिए गर्म है। जम्‍मू-कश्‍मीर में रविवार को सबसे गर्म स्‍थान मीरपुर 46 डिग्री सेल्सियस, जम्‍मू एयरपोर्ट 45 डिग्री सेल्सियस तथा श्रीनगर एयरपोर्ट 33 डिग्री सेल्सियस थे।

तापमान बढ़ने की वजह।

देश के पश्चिमी हिस्‍से से चलने वाले हवाओं में इस बार कमी देखी गई है, जो अपने साथ बादल और बारिस लाकर उत्तर-पश्चिम भारत में तापमान को नियंत्रित करती है। हवाओं में नमी की कमी के कारण भी तापमान अधिक बना हुआ है। इसके अलावा मार्च और अप्रैल के महीने में होने वाली बारिश में भी इस बार कमी दर्ज की गई है।

लू से बचाव कैसे करें।

  • घर से बाहर निकलने पर छाता, हैट, कैप या तौलिए का इस्‍तेमाल करें।
  • हल्‍के रंग और कॉटन के कपड़े पहनें।
  • पानी पीते र‍हें। तरबूज, नींबू और संतरे का सेवन करें।
  • थोड़े-थोड़े समय पर स्‍नान करें।

तारीख: 17/05/2022

लेखक: शत्रुंजय कुमार।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.