मदर्स डे: कैसे हुई मदर्स डे मनाने की शुरूआत।

8 मई को दुनिया के कई देशों में मदर्स डे मनाया जाता है। इस दिन लाेग अपनी मां के त्‍याग और समर्पण के लिए उनका आभार जताते हैं।

Mothers Day
Mothers Day
मदर्स डे की शुरूआत एक अमेरिकी स्‍कूली शिक्षिका एना जारविस ने की थी। उनका मानना था कि एक मां ही है, जो दुनियां में आपका किसी भी इंसान से अधिक ख्‍याल रखती है।

कहां से आया विचार।

एना जारविस को मदर्स डे मनाने का विचार अपनी मां एन रीव्‍स जारविस से मिला था। 1858 में रीव्‍स चर्च में एक मदर्स डे नेटवर्क चलाती थीं। इसका उदेश्‍य शिशु मृत्‍यु दर को कम करना था। खुद रीव्‍स के 9 बच्‍चों की मौत किसी अज्ञात बीमारी से हो गई थी।

पहली बार मना मदर्स डे।

वर्ष 1905 में अपनी मां के निधन के बाद एना उनके सपने को पूरा में जुट गयी। एना ने पहली बार 10 मई 1908 को चर्च में मदर्स डे का आयोजन किया। इस अवसर पर एना ने महिलाओं में अपनी मां के पसंदीदा सफेद कार्नेशन फूल बांटे। इस दिन के लिए एना ने मई का दूसरा रविवार इसलिए चुना क्‍योंकि यह उनकी मां की पुण्‍यतीथि (9 मई) के करीब था।

अस्तित्‍व में आया मदर्स डे।

एना के इस प्रोग्राम की खूब चर्चा हुई और आगे चलकर 1910 में ये वेस्‍ट वर्जिनिया स्‍टेट का राजकीय दिवस बन गया। 1914 में अमेरिकी राष्‍ट्रपति वुड्रो विल्‍सन ने मई का दूसरा रविवार मांओं को समर्पित करते हुए राजकीय दिवस घोषित कर दिया। इस तरह मदर्स डे अस्तित्‍व में आया।
तारीख: 08/05/2022
लेखक: राकेश कुमार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.