CUET क्या है, केंद्रीय विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए अब एक ही प्रवेश परीक्षा

CUET क्या है।

पिछली कई सरकारों ने हायर एजुकेशन में जाने वाले छात्रों के लिए कई प्रवेश परीक्षाओं की जगह एक ही प्रवेश परीक्षा करने की दिशा में काम किए हैं। 2010 में यूपीए सरकार, सेंट्रल यूनिवर्सिटीज कॉमनएंट्रेंस टेस्ट (CUET) लाई, लेकिन पिछले साल तक इसे केवल 14 केंद्रीय विश्वविद्यालयों ने ही अपनाया। 

CUET, CUCET का ही नया रूप है, जिसे 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों द्वारा अपनाना अनिवार्य है। यह विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए एक ही प्रवेश परीक्षा पर जोर देने वाली नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) की घोषणा के बाद आया है। 

CUET

स्नातक में प्रवेश अब केवल CUET के आधार पर। 

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने आगामी शैक्षणिक वर्ष 2022-23 के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) शुरू करने की घोषणा की है। इसके साथ ही अब देश के 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश CUET के आधार पर होगा ना कि 12वीं के अंकों के आधार पर। 

दिल्ली विश्वविद्यालय तथा CUET 

दिल्ली विश्वविद्यालय के अंडर ग्रैजुएट कोर्स में प्रवेश अब कटऑफ के आधार पर ना होकर CUET में लाए गए स्कोर के बेस पर होगा। यानी, कॉलेज या पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए बोर्ड के अंकों की कोई भूमिका नहीं होगी।  हालांकि, दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेज या कोई केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रवेश के लिए न्यूनतम पात्रता मानदंड के रूप में बोर्ड के अंकों का उपयोग कर सकती है। 

CUET अब किसके द्वारा कराया जाएगा। 

CUET को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) आयोजित कराएगी, जो जेईई-मेन और यूजीसी-नेट जैसी प्रवेश परीक्षा भी कराती है। CUET UG के लिए आवेदन प्रक्रिया अप्रैल के पहले हफ्ते से शुरू हो जाएगी और परीक्षा जुलाई के पहले सप्ताह में होगी। परीक्षा को 13 भाषाओं हिंदी, मराठी, गुजराती, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम, उर्दू, असमिया, बंगाली, पंजाबी, उड़िया और अंग्रेजी में कराया जा सकता है। 

क्या होगा परीक्षा का सिलेबस। (CUET Exam Syllabus)

परीक्षा दो शिफ्ट में आयोजित कराई जाएगी। तथा यह कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी। एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों की सामग्री पर आधारित बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे। इसके 3 भाग होंगे। 

पहले भाग में उम्मीदवार द्वारा चुनी गई भाषा की परीक्षा होगी। दूसरा भाग उम्मीदवार के डोमेन-विशिष्ट ज्ञान के परीक्षण पर केंद्रित होगा। तीसरे भाग में सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स, सामान्य मानसिक क्षमता, संख्यात्मक क्षमता से जुड़े सवाल होंगे। 

पीजी कोर्स में सीआईडी होगा लागू। 

केंद्रीय विश्वविद्यालयों में पीजी कोर्स के लिए CUET नहीं है। इसलिए, यूनिवर्सिटी पीजी प्रवेश के लिए CUET को अपनाने या अपना ही प्रवेश प्रक्रिया कराने के लिए स्वतंत्र है। 

तारीख: 24/03/2022 

लेखक: शत्रुंजय कुमार। 

CUET Entrance Exam. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.