नेशनल डॉक्‍टर्स डे: भारत रत्‍न डॉ बिधान चंद्र राय पर विशेष।

हर साल 1 जुलाई को राष्‍ट्रीय चिकित्‍सक दिवस (National Doctors Day) मनाने का मकसद डाकटर्स और उनकी समर्पित सेवा के लिए धन्‍यवाद कहना है। भारत में य दिवस पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्‍यमंत्री डॉ बिधान चंद्र रॉय की जयंती एवं पुण्‍यतिथि के उपलक्ष्‍य में मनाया जाता है। इस बार राष्‍ट्रीय चिकित्‍सक दिवस 2022 की थीम ‘फ्रंट लाइन पर पारिवारिक डॉक्‍टर है’।

National Doctors Day

कौन थे बिधान चंद्र राय

डॉ बिधान चंद्र राय एक चिकित्‍सक होने के साथ साथ शिक्षाविद और सामाजिक कार्यकर्ता भी थे। बिहार के पटना में 1 जुलाई 1882 को पैदा हुए राय 14 वर्षों तक पश्चिम बंगाल के मुख्‍यमंत्री रहे। उनके योगदान को देखते हुए सरकार ने उन्‍हें 1961 में देश का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान भारत रत्‍न प्रदान किया।

शिक्षा और प्रतिभा

एक मेधावी छात्र रहे रॉय ने पटना कालेज से गणित की पढाई की और फिर कलकता मेडिकल कालेज में प्रवेश लिया। लंदन के सेंट बार्थोलोम्‍यू हॉस्पिटल में एडिमशन लेने के लिए उन्‍हें 30 बार आवेदन करना पड़ा था।

जिस शख्‍स को शुरूआत में लंदन के एक प्रतिष्ठित संस्‍थान में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था, वही रॉय 1911 में पोस्‍ट ग्रेजुएशन करने के बाद लंदन के रॉयल कॉलेज ऑफ फिजिसियंस के सदस्‍य और रॉयल कालेज ऑफ सर्जन्‍स के फेलो चुने गए।

महात्‍मा गांधी के निजी डॉक्‍टर

लंदन से लौटने के बाद रॉय राजनीति में सक्रिय हो गए। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बाद 1931 रॉय कलकता के मेयर चुने गए। महात्‍मा गांधी के सविनय अवज्ञा आंदोलन में शामिल होने के बाद डॉ बिधान चंद्र रॉय जल्‍द ही उनके मित्र और निजी डॉक्‍टर बन गए।

आईएमए की स्‍थापना

डॉ राय ने कलकता में कुछ प्रमुख चिकित्‍सा संस्‍थान जैसे आर जी कर मेडिकल कालेज, जादवपुर टी वी अस्‍पताल, चितरंजन सेवा सदन, कमला नेहरू अस्‍पताल, विक्टोरिया इंस्‍टीटयूशन और चितरंजन कैंसर अस्‍पताल की स्‍थापना की। इसके अलावा उन्‍होंने देश के दो प्रतिष्ठित चिकित्‍सा संस्‍थानों इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की स्‍थापना में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई।

घर किया दान

डॉ राय ने अपने घर को नर्सिंग होम में बदलने के लिए दान कर दिया था।1 जुलाई 1962 को 80 साल की उम्र में राय का कोलकता में निधन हो गया।

वर्ष 1976 में उनके नाम पर डॉ बी सी राय राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार शुरू किया गया। यह पुरस्‍कार चिकित्‍सा, दर्शन, साहित्‍य, कला और राजनीति विज्ञान के लिए दिया जाता है।

National Doctors Day (Rastriya Chikitsak Diwas)

तारीख: 01/07/2022

लेखक: निशांत कुमार।

Leave a Comment